शेयर बाजार में बड़ी गिरावट, 50000 के नीचे बंद हुआ सेंसेक्स


 Satyakam News | 22/02/2021 8:34 PM


नई दिल्ली। वैश्विक बाजारों के नरम संकेतों के बीच बड़ी कंपनियों के शेयर गिरने और मुनाफावसूली के कारण सोमवार को शेयर बाजार बड़ी गिरावट के साथ बंद हुआ। शेयर बाजारों में गिरावट का सिलसिला सोमवार को लगातार पांचवें कारोबारी सत्र में भी जारी रहा। रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज और एचडीएफसी जैसी बड़ी कंपनियों के शेयरों में गिरावट से सेंसेक्स 1,145 अंक टूट गया।  बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,145.44 अंक यानी 2.25 प्रतिशत के नुकसान से 49,744.32 अंक पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 306.05 अंक यानी 2.04 प्रतिशत टूटकर 14,700 अंक से नीचे 14,675.70 अंक पर बंद हुआ।आज शेयर बाजार में पब्लिक सेक्टर बैंक और ऑटो शेयरों में सबसे अधिक गिरावट देखने को मिली।

वैश्विक बाजारों के नरम संकेतों के बीच बड़ी कंपनियों के शेयर गिरने से सुबह मामूली तेजी के बाद शेयर बाजार में गिरावट आ गई। कारोबार में सेंसेक्स 200 अंक से अधिक लुढ़क गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स एक समय गिरकर 50,685.42 अंक पर आ गया। हालांकि बाद में इसने कुछ नुकसान की भरपाई की और 65.13 अंक यानी 0.13 प्रतिशत की गिरावट के साथ 50,824.63 अंक पर चल रहा था। एनएसई निफ्टी 8.40 अंक यानी 0.06 प्रतिशत नीचे 14,973.35 अंक पर कारोबार कर रहा था।

सेंसेक्स की कंपनियों मेंओएनजीसी, कोटक बैंक, एचडीएफसी बैंक को छोड़कर बाकी सभी शेयर लाल निशान पर बंद हुए।  एलएंडटी, एमएंडएम, डॉ रेड्डीज, मारुति, एचडीएफसी, टीसीएस और बजाज ऑटो जैसी कंपनियों के शेयर गिरावट के पर बंद हुए। सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में डॉ. रेड्डीज का शेयर सबसे अधिक करीब पांच प्रतिशत टूट गया। महिंद्रा एंड महिंद्रा, टेक महिंद्रा, एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक और टीसीएस के शेयर भी नुकसान में रहे।
 
आनंद राठी के इक्विटी शोध (बुनियादी) प्रमुख नरेंद्र सोलंकी ने कहा कि एशियाई बाजारों के मिलेजुले रुख के बीच भारतीय बाजार भी स्थिर रुख के साथ खुले। चीन के केन्द्रीय बैंक पीबीओसी द्वारा ब्याज दरों को यथावत रखने की वजह से चीन के बाजार नुकसान में रहे। वहीं जापान के बाजार में मामूली बढ़त थी। उन्होंने कहा कि दोपहर के कारोबार में बाजार नीचे आए। कोविड-19 के मामले बढ़ने की चिंता तथा इसका आर्थिक प्रभाव पूर्व के अनुमान से कहीं अधिक रहने की आशंका से निवेशकों ने बिकवाली की है।

अन्य एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कम्पोजिट, हांगकांग का हैंगसेंग और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी नुकसान में थे। वहीं जापान के निक्की में लाभ रहा। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार भी नुकसान में थे। इस बीच, वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 0.66 प्रतिशत की बढ़त के साथ 62.55 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था।
 
बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सप्ताह के अंतिम कारोबारी दिन शुक्रवार को 434.93 अंक लुढ़क गया। शुक्रवार को सेंसेक्स 50,889.76 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज निफ्टी भी 137 अंक गिरकर 14,981.75 के स्तर पर बंद हुआ। आज NIFTY NEXT 50 में 470.25 अंक, मिडकैप 50 में 2.30%, निफ्टी बैंक में 2.04% और NIFTY FINANCIAL SERVICES इंडेक्स भी 1.49% नुकसान के साथ बंद हुआ।

Follow Us