पुडुचेरी में गिरी कांग्रेस की सरकार, CM नारायणसामी ने कहा - केंद्र ने हमारे साथ धोखा किया


 Satyakam News | 22/02/2021 7:23 PM


पुडुचेरी। केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में कांग्रेस की अगुआई वाली सरकार गिर गई। मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी सोमवार को बहुमत साबित नहीं कर सके और अपने विधायकों के साथ सदन से वॉकआउट कर दिया। कुछ देर बाद ही वे राजभवन पहुंचे और उपराज्यपाल को इस्तीफा सौंप दिया है।

मीडिया से बात करते हुए वी नारायणसामी ने कहा- '3 नामित सदस्यों को विश्वास प्रस्ताव में कहीं भी मतदान का अधिकार नहीं है, मेरी स्पीच खत्म होने के बाद सरकार के विप ने इस मुद्दे को उठाया, लेकिन अध्यक्ष इससे सहमत नहीं हुए। ये लोकतंत्र की हत्या है, ऐसा देश में कहीं नहीं होता। पुडुचेरी के लोग इन्हें सबक सिखाएंगे।'

नारायणसामी ने सरकार गिरने का ठीकरा केंद्र की मोदी सरकार पर फोड़ा। उन्होंने कहा, ‘पूर्व LG किरण बेदी और केंद्र सरकार ने विपक्ष के साथ मिलकर सरकार गिराने की कोशिश की। अगर हमारे विधायक हमारे साथ होते, तो सरकार पांच साल चलती। केंद्र से हमने फंड मांगा था, उसे न देकर सरकार ने पुडुचेरी के लोगों के साथ धोखा किया।’

बता दें कि कांग्रेस के विधायकों के लगातार इस्तीफा देने के बाद से नारायणसामी सरकार पर संकट मंडरा रहा था। रविवार को तीन में से एक डीएमके विधायक के इस्तीफे ने इस संकट को और गहरा दिया था। पहले ही यह माना जा रहा था कि 33 सदस्यीय विधानसभा में नारायणसामी सरकार के लिए बहुमत साबित कर पाना बेहद मुश्किल है। विधानसभा में फ्लोर टेस्ट से पहले मुख्यमंत्री वी नारायणसामी के भाषण में विधायकों के बागी होने का दुख साफ झलक रहा था।

सीएम ने अपने भाषण में कहा कि विधायकों को अपनी पार्टी के प्रति वफादार रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस्तीफा देने वाले विधायक जनता का सामना नहीं कर पाएंगे। उन्हें लोग अवसरवादी कहेंगे। सीएम ने अपनी सरकार की महत्वपूर्ण उपलब्धियां गिनाते हुए केंद्र सरकार और पूर्व उपराज्यपाल किरण बेदी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और पूर्व एलजी किरण बेदी ने हमे दबाने की कोशिश की लेकिन फिर भी हम लोगों के हित में काम करने में सक्षम बने रहे।

सीएम ने कहा कि सरकार बनाने के बाद हमने किसानों का सहकारी कृषि लोन माफ किया। छोटे किसानों के लिए पीएम मोदी 6 हजार रुपये दे रहे हैं जबकि हम 37 हजार 500 रुपये दे रहे हैं। सीएम ने कहा कि हमने डीएमके और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बनाई। उसके बाद, हमने कई उपचुनावों का सामना किया। हमने सभी उपचुनाव जीते हैं। इससे यह स्पष्ट है कि पुडुचेरी के लोग हम पर भरोसा करते हैं। सीएम ने कहा कि तमिलनाडु में हम दो भाषाओं तमिल और अंग्रेजी को फॉलो करते हैं लेकिन बीजेपी जबरन हम पर हिंदी थोपना चाहती है।

Follow Us