किसान नेताओं से चर्चा के बाद बोले केजरीवाल, तीनों कृषि कानून किसानों के लिए डेथ वारंट


 Satyakam News | 21/02/2021 7:51 PM


नई दिल्ली। दिल्ली से सटी सीमाओं पर नए किसान कानूनों को लेकर किसान आंदोलन कर रहे हैं। सरकार और किसान नेताओं के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है मगर बीच का रास्ता नहीं निकल पाया है। आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किसान नेताओं से बीच की। इस दौरान सीएम ने नए कृषि कानूनों के बारे में भी चर्चा की। चर्चा के बाद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है।

उन्होंने कहा कि ये तीन कृषि क़ानून किसानों के लिए डेथ वारंट है। इन क़ानूनों से किसानों की किसानी कुछ पूंजीपतियों के हाथों में चली जाएगी और हमारा किसान अपने खेत में मजदूर बनने के लिए बेबस हो जाएगा। आज सब लोगों ने फिर से केंद्र सरकार से मांग की है कि इन क़ानूनों को वापस लिया जाए ।केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार कहती आई है कि इन क़ानूनों से किसानों को फायदा होगा लेकिन अब तक वह जनता को एक भी फायदा बताने में नाकाम रहे हैं । आगे केजरीवाल ने कहा कि आज सब लोगों ने फिर से केंद्र सरकार से मांग की है कि इन क़ानूनों को वापस लिया जाए।

सीएम केजरीवाल संग बैठक के बाद पश्चिमी उत्तरप्रदेश के एक किसान नेता ने कहा कि 28 फरवरी को मेरठ में एक भव्य 'किसान पंचायत' होने जा रही है। महापंचायत में इन कानूनों पर चर्चा की जाएगी और भारत सरकार से इन कानूनों को वापस लेने की अपील की जाएगी।

Follow Us